दरभंगा: सरकारी बेरुखी से नाराज़ डीलरों ने शरू किया धरना, कहा फाइनल मेधा सूची प्रकाशन के 6 माह बाद भी नहीं दी जा रही अनुज्ञप्ति

दरभंगा जिले के 113 डीलर (जन वितरण प्रणाली दुकान) लालफीताशाही से आग बबूला हैं। सरकारी प्रक्रिया के अनुरूप इनका चयन हुआ लेकिन महीनों बीत गए लेकिन इन्हें अनुज्ञप्ति नहीं दी गई है। कोरे आश्वासनों से आजिज़ आकर वे धरने पर बैठ गए हैं।
सोमवार को लहेरियासराय के पोलो ग्राउंड के धरना स्थल पर स्त्री और पुरुष डीलर संकल्पबद्ध दिखे। धरने पर जमे स्त्रियों के छोटे छोटे बच्चे इधर उधर खेलने में मस्त.. इस बात से बेखबर कि उनके माता पिता किस हताशा में जी रहे हैं।
विज्ञापन
नारे.. आक्रोश की अनुगूंज के बीच डीलर एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष महेश कुमार सिंह ने रोष जताया कि जब उन लोगों का चयन हो गया था और सिर्फ अनुज्ञप्ति बटना शेष है तो फिर से 23 फरवरी 2022 को डीलरो के लिए जिला चयन समिति की बैठक क्यों आयोजित की जा रही है। ये आशंका को जन्म दे रही है। उन्होंने बताया कि उनकी जिंदगी तो तबाह हो ही रही साथ में उपभोक्ताओं को भी अनाज नहीं मिल रहा।
महेश ने चेताया कि प्रशासन ने उनकी मांग नहीं सुनी तो दो दिन बाद यानि 23 फरवरी से ये धरना भूख हड़ताल में तब्दील हो जाएगा। धरनार्थियों ने बताया कि इन डीलरो के चयन की फाइनल मेधा सूची का  24-08-2021 को प्रकाशन कर दिया गया था।