दरभंगा ट्रिपल हत्याकांड का मुख्य आरोपी शिवकुमार झा पुलिस की गिरफ्त में, मधुबनी ज़िले से पुलिस ने किया गिरफ़्तार

दरभंगा: ट्रिपल अग्नि हत्याकांड के मुख्य आरोपी शिवकुमार झा को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है। इस बात की पुष्टि दरभंगा के प्रभारी एसएसपी ने शुक्रवार की देर शाम क़रीब 8 बजे की है। उन्होंने जानकारी दी है कि मुख्य आरोपी शिव कुमार झा की गिरफ्तारी मधुबनी नेपाल बार्डर के पास सहारघाट से हुई है। साथ ही उस कांड का एक और अज्ञात अभियुक्त तिरुपति राय को भी दरभंगा से आज गिरफ्तार किया गया है। लेकिन शिव कुमार झा को गिरफ्तार कर कहां ले जाया गया है यह जानकारी अभी नहीं दी गई है।

इस कांड को लेकर सरकार और दरभंगा पुलिस प्रशासन की काफ़ी फ़जीहत हो रही थी, वहीं घटना की सीसीटीवी फ़ुटेज देखकर और पीड़ित परिवार के मीडिया में दिए बयान के बाद से इस ख़ौफ़नाक अग्निकांड में दरभंगा पुलिस की भूमिका पर सवाल उठने लगे थे, यही कारण था के एसएसपी ने नगर थाना अध्यक्ष राकेश सिंह को लापरवाही के आरोप में पहले लाइन हाज़िर किया फिर दोसरे दिन निलंबन कर दिया गया। पिछले 8 दिनों से विपक्षी पार्टियों द्वारा लगातार सरकार और प्रशासन के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया जा रहा था और दबाव बनाया जा रहा था कि मुख्य आरोपी की गिरफ़्तारी जल्द हो। फिलहाल यह कहा जा सकता है कि मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के बाद दरभंगा पुलिस को राहत ज़रूर महसूस हो रही होगी। अब आगे यह देखना दिलचस्प होगा कि मुख्य आरोपी शिवकुमार झा से पुलिस घटना के सम्बंध में क्या क्या जानकारी निकाल पाती है। क्योंकि घटना के बाद से ही यह चर्चा आम है कि शिवकुमार झा को सत्ता में बैठे किसी बड़े नेता का संरक्षण प्राप्त है।

ज्ञात हो कि बीते 10 फरवरी की देर शाम क़रीब 8 बजे नगर थाना क्षेत्र के जीएम रोड स्थित रीता झा के घर पर कब्ज़ा करने की नीयत से कथित भूमाफियाओं ने बुलडोज़र चढ़ाकर घर तोड़ा और परिवार के 4 लोगों को ज़िन्दा जलाने का प्रयास किया था, आग में झुलसे कुल चार में से दो संजय झा और उसकी बहन पिंकी झा की मौत इलाज के दौरान पीएमसीएच पटना में 15 फरवरी को हो गई थी, जबकि पिंकी झा 8 माह की गर्भवती थी और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत मां की मौत से दो दिन पहले ही हो चुकी थी, इस तरह अब तक इस घटना में कुल तीन मौत हो चुकी है। वहीं, दो अन्य बहनें पूजा झा और निक्की झा भी आग में झुलस गई थी दोनों के पैर के हिस्से गंभीर रूप से घायल हैं, उन दोनों का इलाज चल रहा है।