दरभंगा: कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री की बैठक में DM ने ज़िले की स्थिति पर ये कहा

ऑनलाइन समीक्षा बैठक करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और दरभंगा DM समेत अन्य आला अधिकारी

कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की बैठक

दरभंगा का पॉजिटिविटी रेट बिहार में सबसे कम 1.1 प्रतिशत रहा!

दरभंगा, 27 अप्रैल 2021 :- कोरोना के बढ़ते संक्रमण के रोकथाम एवं कोरोना-मरीजों के ईलाज के लिए की जा रही व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री, बिहार नीतीश कुमार, सभी अपर मुख्य सचिव, सभी प्रधान सचिव, सभी सचिव, सभी प्रमण्डलीय आयुक्त, सभी पुलिस महानिरीक्षक, सभी पुलिस उपमहानिरीक्षक, सभी जिलाधिकारी, सभी वरीय पुलिस अधीक्षक एवं सभी पुलिस अधीक्षक, स्वास्थ्य विभाग के स्थानीय पदाधिकारियों के साथ ऑनलाईन समीक्षा बैठक की। इस बैठक में उप मुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद, शिक्षा मंत्री विजय चौधरी, स्वास्थ्य मंत्र मंगल पाण्डेय तथा मुख्यमंत्री के दोनों प्रधान सचिव उपस्थित थे।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत द्वारा पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से बिहार की स्थिति से अवगत कराया गया। कोरोना संक्रमण के कुल मामले, जिला का पॉजिटिविटी तथा एक्टिव केस से संबंधित सभी जिलों की सूची जारी की गई। जिसमें प्रति दस लाख की जनसंख्या पर सर्वाधिक पॉजिटिव मामले पटना जिले में तथा सबसे कम 202 दरभंगा जिले का रहा। दरभंगा का पॉजिटिविटी रेट बिहार में सबसे कम 1.1 प्रतिशत रहा।

बैठक में सभी जिलाधिकारियों ने अपने जिले की स्थिति से अवगत कराया एवं अपने सुझाव दिये। दरभंगा से जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने बताया कि दरभंगा जिले में 1,094 एक्टिव केस है।

शहरी क्षेत्र में 61 प्रतिशत् तथा ग्रामीण क्षेत्र में 39 प्रतिशत् है तथा शहरी क्षेत्र की पॉजिटिभिटी रेट 3.2 प्रतिशत् एवं ग्रामीण क्षेत्र की पॉजिटिभिटी रेट 2.2 प्रतिशत है। वैसे पंचायत जहाँ लोग बाहर से आये हैं, वहाँ टेस्टिंग करायी जा रही है। डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल डी.एम.सी.एच. में 120 बेड ऑक्सीजन युक्त तथा 08 भेंडीलेटर युक्त बेड उपलब्ध है।

डी.एम.सी.एच. से 16 प्रमुख निजी हॉस्पिटलों को सम्बद्ध किया गया है। जिनमें 162 बेड तथा 35 भेंडीलेटर युक्त बेड उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि जिले में एक ऑक्सीजन प्लांट है और लिक्विड ऑक्सीजन लाने के लिए कॉमफेड से एक क्रयोजनिक टैंकर उपलब्ध हो गया है। इसलिए यहाँ ऑक्सीजन आपूर्ति की कोई समस्या नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि Bill & Melinda Gates Foundation तथा केयर इण्डिया के माध्यम से कोविड केयर सेंटर के तथा ग्रामीण चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिलाया गया है। जिले में 2 लाख 61 हजार लोगों का टीकाकरण किया गया है। 03 हजार टीका अभी उपलब्ध हैं। अनुमण्डल स्तर पर क्वांटाइन सेन्टर कार्यरत हैं, जहाँ 06 लोग ईलाजरत हैं। लोगों में मास्क एवं सामाजिक दूरी के लिए जागरूकता लाने हेतु 86 वाहनों के माध्यम से लगातार प्रचार-प्रसार कराया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा जारी प्रचार सामग्री का भी प्रयोग किया जा रहा है।

कोविड-19 कोरोना के रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाईन में जो प्रतिबंध लगाये गये हैं, उन्हें प्रभावशाली ढ़ंग से लागू कराया जा रहा है। चेंबर ऑफ कॉमर्स तथा अन्य व्यवसायिक संघ के साथ बैठक कर सप्ताह में तीन दिन गैर आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को बन्द कराया गया है। मृतकों का अंतिम संस्कार भीगो घाट पर कराया जा रहा है।उन्होंने कहा कि बहेड़ा बाजार में अनावश्यक भीड़ को देखते हुए कुछ दिनों के लिए बन्द कराया गया है।

उन्होंने कहा कि डी.एम.सी.एच. में 04 डी-फ्रीजर उपलब्ध है, DMCH में 5 दिनों के मरीज आते हैं इसलिए कुछ और डी-फ्रीजर की आवश्यकता है। डी.एम.सी.एच. के फाईनल ईयर की परीक्षा यदि हो जाती, तो डी.एम.सी.एच. को नये हाउ सर्जन मिल जाता।

नये ऑक्सीजन प्लांट के लिए कई लोगों के द्वारा विभिन्न विभागों से विभिन्न आदेश की माँग की जा रही है, यदि उद्योग विभाग द्वारा सिंगल विंडो सिस्टम स्थापित कर दिया जाता, तो उन लोगों को सुविधा मिल जाती तथा कई ऑक्सीजन प्लांट संस्थापित हो जाते।

बैठक में दरभंगा से पुलिस महानिरीक्षक अजिताभ कुमार, जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम., प्रभारी पुलिस अधीक्षक अशोक प्रसाद, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, डी.पी.एम. (हेल्थ) विशाल कुमार उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here