दरभंगा: कोरोना इलाज हेतु सरकार की लचर व्यवस्था के ख़िलाफ़ भाकपा माले ने जताई नाराज़गी, किया प्रतिवाद, रखी ये मांगें

कोविड इलाज व ऑक्सीजन, बेड की मांग पर बहादुरपुर प्रखण्ड में जगह-जगह भाकपा(माले) ने किया प्रतिवाद।

जिला प्रशासन द्वारा घोषित 16 प्राइवेट हॉस्पिटलों में कोविड मरीजों का नहीं हो रहा है इलाज – नेयाज अहमद

मोदी-नीतीश सरकार सुस्ती तोड़े युद्धस्तर पर कोविड इलाज़ का समुचित प्रबंध करें – अभिषेक कुमार

दरभंगा बहादुरपुर, (प्रेस रीलीज़) बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और जांच का व्यापक इंतजाम करने, तमाम सरकारी और निजी अस्पतालों में 50 प्रतिशत बेड कोविड मरीजों के लिए रिजर्व करने, कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों की संख्या बढ़ाने, मरीजों के लिए ऑक्सीजन युक्त अस्थाई अस्पताल बनाने, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की व्यापक व्यवस्था करने, कोविड जांच का व्यापक इंतजाम करने, 24 घंटे में जांच रिपोर्ट की गारंटी करने, प्राइवेट अस्पतालों में सरकारी खर्च पर इलाज कराने, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तक ऑक्सीजन युक्त बेड का इंतजाम करने, सदर अस्पतालों में वेंटिलेटर युक्त 100 बेड की व्यवस्था करने, मरीजो के साथ-साथ डॉक्टरों की सुरक्षा की गारंटी करने सहित कई अन्य मांगों को लेकर आज भाकपा(माले) के राज्यव्यापी मांग दिवस के तहत कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए रामनगर स्थित भाकपा(माले) प्रखण्ड कार्यालय में मांगों की तख्तियां, झंडा लेकर प्रतिवाद किया गया।

प्रतिवाद कार्यक्रम का नेतृत्व भाकपा(माले) राज्य कमिटी सदस्य अभिषेक कुमार, इंसाफ मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष नेयाज अहमद, जिला स्थाई समिति सदस्य अवधेश सिंह, भाकपा(माले) जिला कमिटी सदस्य डॉ0 उमेश प्रसाद, मो जमालुद्दीन, इंसाफ मंच के नेता मक़सूद आलम पप्पू खां व रामदेव मंडल ने किया।

रामदेव मंडल की अध्यक्षता मे आयोजित सभा को संबोधित करते हुए भाकपा(माले) राज्य कमिटी सदस्य अभिषेक कुमार ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में देश के स्वास्थ्य की चरमरायी व्यवस्था की पोल खुल चुकी है। इस संकट में सरकार-प्रशासन नाम की कोई चीज नजर ही नहीं आ रही है। कहीं ऑक्सीजन के आभाव में मरीज मर रहे हैं तो कहीं वेंटिलेटर के आभाव में मरीज मर रहे है। ऐसी हालत में तमाम सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए हमें सरकार से बेहतर व्यवस्था के लिए आवाज बुलंद करना होगा ।

इंसाफ मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष नेयाज अहमद ने कहा कि भाजपा-जदयू की सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था के प्रति लापरवाह बनी हुई है। आज पूरे बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था आईसीयू में है। उन्होंने सरकार से मांग किया कि तमाम सरकारी व निजी अस्पताल में 50 प्रतिशत बेड कोविड मरीज के लिए रिजर्व किया जाय। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा घोषित 16 प्राइवेट अस्पतालों में कोविड मरीजों के ईलाज व भर्ती में हो रही कोताही की बात कहते हुए जिलापदधिकारी से मांग किया कि जिला प्रशासन अपने मॉनिटरिंग में प्राइवेट हॉस्पिटलों में इलाज कराए।

माले नेता अवधेश सिंह ने कहा कि सरकार अगर- मगर बन्द करे और अपनी सुस्ती तोड़ युद्ध स्तर पर कोरोना से लड़ने वाली स्वास्थ्य व्यवस्था तैयार करने में अपनी ऊर्जा लगाये। डॉ उमेश प्रसाद साह ने कहा कि प्रखण्ड के सभी स्वास्थ्य उप-केंद्रों पर कोविड जांच व प्राथमिक इलाज की व्यवस्था किया जाय।

सभा को मो• जमालुद्दीन, मक़सूद आलम पप्पू खां, बब्लू कुमार, राकेश कुमार पासवान आदि ने भी सम्बोधित किया। इसके साथ ही बहादुरपुर गांव के मिलकीचक में भाकपा(माले) जिला कमिटी सदस्य रामनारायण पासवान, भोलाजी, गंगा देवी, तारालाही में विनोद सिंह, मो• सफीकुल, सुनीता देवी व मुंशी यादव , बसतपुर में हरि पासवान, मठ छपरार में रामाशंकर सहनी, मछौरा में सुरेश पासवान, बहादुरपुर में नंदलाल ठाकुर, किशुन पासवान आदि के नेतृत्व में कार्यक्रम आयोजित हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here