दरभंगा: आयुक्त ने किया रोगी कल्याण समिति की बैठक, सर्वे ऑफिस को खाली कराने का दिया गया निर्देश

● आयुर्वेद महाविद्यालय में रोगी कल्याण समिति का हुआ गठन
● एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड मशीन एवं एंबुलेंस को तत्काल उपलब्ध कराने का निर्णय
दरभंगा: राजकीय रमेश्वरी भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान, मोहनपुर, दरभंगा में आयुक्त, दरभंगा प्रमण्डल, डॉ. मनीष कुमार की अध्यक्षता में रोगी कल्याण समिति के गठन का प्रस्ताव पारित किया गया। आयुक्त की अध्यक्षता में सर्व समिति के द्वारा यह निर्णय लिया गया की रोगियों का विधिवत पंजीकरण शुल्क 05 रुपये के साथ कराया जाए एवं 15 दिन के अंदर किसी भी स्थिति में रजिस्ट्रेशन कराया जाए। इसके साथ ही भारतीय स्टेट बैंक में इसके नाम से एक खाता खुलवाया जाए, इस कार्य के लिए डॉ. विजेंद्र कुमार को प्राधिकृत किया गया।
बैठक में एक्स-रे मशीन, अल्ट्रासाउंड मशीन एवं एंबुलेंस को तत्काल उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही सर्वे ऑफिस को खाली कराने का निर्देश दिया गया। बैठक में उपस्थित बी.एम.एस.आई.सी.एल. के पदाधिकारी को जीर्ण अवस्था में पड़े भवनों को तत्काल जीर्णोद्धार के लिए निर्देश दिया गया। बैठक में महाविद्यालय का मोहनपुर में स्थित मुख्य परिसर को कैंपस-1 एवं कामेश्वरनगर आयुर्वेदिक अस्पताल को कैंपस-2 के रूप में नामकरण करने का निर्णय लिया गया।
आयुक्त ने हर संभव किसी भी प्रकार की बाधा उपस्थित होने पर मुख्य अपर सचिव से वार्ता करने का आश्वासन दिया, आवश्यकता पड़ने पर आयुष मंत्रालय भारत सरकार से भी बातचीत करने की बात कही। बैठक में इस संस्थान को अखिल भारतीय आयुर्वेद विज्ञान संस्थान के रूप में विकसित करने हेतु सुझाव दिया जिससे आयुर्वेद के क्षेत्र में शोध कार्य एवं उच्च शिक्षा को बढ़ावा मिल सके।
बैठक में दरभंगा नगर निगम की महापौर मुन्नी देवी, प्राचार्य/अधीक्षक राजकीय रामेश्वरी भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान, दरभंगा प्रो. दिनेश्वर प्रसाद, डॉ. राजेश्वर दुबे, डॉ. मनीष कुमार आलोक, डॉ. विजेंद्र कुमार, सिविल सर्जन डॉ. अनिल कुमार, जिला देशी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अनिल श्रीवास्तव, संयोजक, दरभंगा जिला विश्व आयुर्वेद परिषद डॉ. गणपति नाथ झा, सचिव, उत्तर बिहार आरोग्य भारती, दरभंगा डॉ. शैलेंद्र लाल दास के साथ-साथ विशेष रूप से आमंत्रित सदस्य नगर आयुक्त, दरभंगा नगर निगम अखिलेष प्रसाद सिंह, प्राचार्य, दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल दरभंगा डॉ के.एन. मिश्रा, अभियंता सागर जयसवाल, उप महाप्रबंधक बी.एम.एस.आई.सी.एल, पटना इत्यादि उपस्थित थे।